Best Love Poem in Hindi | प्यार पर हिंदी कविता



Love Poem in Hindi : दोस्तों प्यार एक ऐसा खुबसूरत अहसास है जो कभी भी किसी से भी हो सकता है आप इस पोस्ट पर आयें हैं तो जाहिर सी बात है आपको भी किसी से प्यार हुआ होगा । प्यार एक ऐसी चीज है जो इंसान से कुछ भी करा देता है प्यार के अंदर बहुत ताकत होती है । इसी लिए हम जिस से प्यार करतें हैं उसे हम कभी दुखी नही देख सकते हैं । ऐसे में आप भी कभी न कभी अपने लवर को Love Shayari या फिर Love Poem जरुर भेजते होंगे इस पोस्ट में आपके हम Love Poem in Hindi लायें हैं ।

Best Love Poem in Hindi

तेरा हाथ मेरे हाथों में रह जाए
तो अच्छा है,

 

ये जीवन यूँ ही साथ गुजर जाए
तो अच्छा है !

 

सबको पता है की मेरी
गजल हो तुम,

 

पर ये खबर तुम तक पहुंच जाए
तो अच्छा है !

 

की चल रहा है दिल मेरा
बहके हुए शराबी सा,

 

बस अब ये तुम्हारे ही पास
रह जाए तो अच्छा है !

 

की तेरा हाथ मेरे हाथों में रह जाए
तो अच्छा है !

Love Poem in Hindi

मेरे जिस्म की रूह हो तुम
बेखयाली में भी खयाल हो तुम,

 

नींद में सपने हो तुम
गैरों में अपने हो तुम,

 

दिल की धड़कन हो तुम
हर मुस्कुराहट में बसते हो तुम,

 

कभी हसाते हो तुम
कभी रुलाते हो तुम,

 

हर पल याद आते हो तुम !!

Love Poem Hindi

मुझे नींद नहीं आएगी
तो मुझे सुला पाओगे क्या,

 

मैं नासमझ हूँ बहुत मुझे,
हर बात समझा पाओगे क्या,

 

हाँ माना थोड़ा ज्यादा गुस्सा आता हैं,
पर मेरे गुस्से मे प्यार ढूंढ़ पाओगे क्या !

Hindi Kavita

Love Poem Hindi : मैं चलना चाहती हूं तुम्हारे साथ 

मैं चलना चाहती हूं तुम्हारे साथ
कुछ इस तरह की अगर गिरूं
तो उठने की जरूरत ही ना हो !

 

मैं खिलना चाहती हूं तुम्हारी,
खुशबू से कुछ इस तरह !

 

कि मैं मुरझाऊं तो इत्र की जरूरत ही ना हो,

 

मैं सजना चाहती हूं तुम्हारे उन
अल्फाजों से इस तरह,
कि मैं पहनूं तो गहनों की जरूरत ही ना हो !

 

मैं बंधना चाहती हूं तुम्हारी आत्मा से कुछ इस तरह
की जिस्मों को बांधने की जरूरत ही ना हो !!

 

मैंने कहा वो अजनबी हैं
दिल ने कहा ये लगी हैं,

 

मैंने कहा वो दूजा हैं
दिल ने कहा फिर भी अपना हैं !

 

मैंने कहा वो दो पल की मुलाकात हैं
दिल ने कहा जो दो पल में पूरी जिन्दगी,
जी ले यही तो प्यार हैं !

 

मैंने कहा वो मेरी भूल हैं
दिल ने कहा फिर भी कबुल हैं,

 

मैंने कहा वो मेरी हार हैं
दिल ने कहा यही तो प्यार हैं !

Hindi Kavita on Love

तू इजाजत दे या न दे,
तेरी इबादत करता रहूंगा,

 

तू प्यार करे या ना करे,
मैं इजहार हर लम्हा करता रहूंगा !

 

तू मिले या ना मिले कोई शिकवा नहीं,
बस तेरी यादों में तुझसे मिलता रहूँगा,

 

दिल में ना बस सका मै तेरे,
पर तेरे ख्यालों में जरूर आऊंगा !

 

तू इजाजत दे या न दे,
तेरी यादों को ही सहारा बनाऊंगा,

 

तू परवाह करें या ना करें,
पर मैं आखरी सांस तक परवाह करता रहूंगा !

 

तू जिस्म की चाहत नहीं,
मेरी रूह की इबादत है,

 

जितने फासले है तेरे मेरे दरमियां,
उतनी ही शिद्दत से मोहब्बत करता रहूंगा !

 

तू इजाजत दे या न दे,
तेरी इबादत करता रहूंगा !

 

हर एक गम हर एक खुशी,
तुम्हारे साथ बाटनी है,

 

क्योंकि अब हमे सारी जिंदगी,
तुम्हारे साथ ही बितानी है !

 

महकता एहसास हो तुम,
कोई फूल गुलाब हो तुम,
ठंडक का फरमान हो तुम !!

 

कोई उजला चांद हो तुम,
क्षितिज सी अनंत हो तुम,
किसी ध्रुवतारे सी हो तुम !!

 

इनायतों का अंबार हो तुम,
मोहब्बत का दीदार हो तुम,
पतझड़ की बाहर हो तुम !!

 

प्यासे दिल का जाम हो तुम,
धधकती हुई आग हो तुम,
सूखे में बरसात हो तुम !!

 

धड़कनों की तार हो तुम,
इस नाचीज की जान हो तुम !!

 

कैसा लगा दोस्तों आपको हमारा यह Love Poem in Hindi पोस्ट यदि आपको अच्छा लगा तो अपने दोस्तों को भी शेयर जरुर करें ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top